जनता दरबार के दौरान मुख्यमंत्री ने खुद मौके पर अधिकारीयों से पूछ ताछ किया

Politics 16-08-2021 12:55 PM 206

 जनता दरबार के दौरान मुख्यमंत्री ने  खुद मौके पर अधिकारीयों से पूछ ताछ किया


बिहार/पटना  मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार सोमवार को जनता के दरबार में पहुंचे और आम लोगों की शिकायतें सुनीं। इस दौरान उन्‍हें गांव तक सड़क नहीं बनने की कई शिकायतें मिलीं। ऐसी शिकायतों को सुनकर खुद सीएम भी चौंक गए। गोपालगंज जिले से आए एक युवक ने बताया कि गांव तक जाने के लिए सड़क तो बनी है, लेकिन अनुसूचित जाति का टोला गांव से अलग है और यहां जाने के लिए सड़क अब तक नहीं बनी है। इस पर मुख्‍यमंत्री ने आश्‍चर्य जाहिर किया और खुद ही अधिकारी को फोन लगा कर पूछा कि ऐसा कैसे संभव हो सकता है? उन्‍होंने कहा कि अनुसूचित जाति के टोलों के लिए तो सड़क बनाने का साफ निर्देश पहले ही दे दिया गया है।

जनता दरबार में नाली-गली और सड़क की ढेरों शि‍कायतें अलग-अलग जिले से आईं। सीएम ने पूछा कि गांव तक तो सड़क बनी है न? हो सकता है कि आपके मुहल्‍ले तक सड़क नहीं बनी हो। औरंगाबाद की एक महिला आवास योजना का लाभ नहीं मिलने की शिकायत लेकर पहुंची। इस पर सीएम ने अधिकारी को फोन लगा कर मामले को देखवाने को कहा। एक शिकायत सड़क का एलाइनमेंट बदलने को लेकर आई। सीएम ने इस पर भी आश्‍चर्य जताया और जांच कराने का निर्देश दिया।

औरंगाबाद जिले से आए एक युवक ने बताया कि उसके गांव की नहर में पानी नहीं है। इस पर सीएम ने कहा कि पूरे राज्‍य में बाढ़ आई है और कैसे इस नहर में पानी नहीं आ पाया। उन्‍होंने जल संसाधन विभाग के अधिकारी को मामले की जांच करने को कहा। खगौल नगर परिषद से आए एक युवक ने कहा कि पथ निर्माण विभाग और नगर निकाय की आपसी खींचतान में सड़क का निर्माण नहीं हो पा रहा है।