75वें स्वतंत्रता दिवस पर लाल क़िला की प्राचीर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आठवीं बार देश को संबोधित करेंगे.

Politics 15-08-2021 03:57 AM 279

75वें स्वतंत्रता दिवस पर लाल क़िला की प्राचीर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  आठवीं बार देश को संबोधित करेंगे.

-आजादी के जश्न में डूबा भारत

बता दें कि श्रीनगर के लाल चौक से लेकर चेन्नई तक जश्न मनाया जा रहा है. ये बताने के लिए काफी है कि देश के नागरिकों का जोश कितना हाई है. कश्मीर से कन्याकुमारी तक हर व्यक्ति देशभक्ति के रंग में रंगा हुआ है.


ध्वजारोहण के समय होगी फूलों की बारिश

75वें साल के इस जश्न में इस बार कार्यक्रम भी कुछ अलग तरह से तैयार किए गए हैं. इस बार जब प्रधानमंत्री मोदी लाल क़िला की प्राचीर से ध्वजारोहण करेंगे तब वायुसेना पहली बार अपने दो MI-17 हेलिकॉप्टर से पुष्प वर्षा करेगी.

जान लें कि वायुसेना के ये हेलिकॉप्टर अमृत फॉर्मेशन में कार्यक्रम स्थल पर फूलों की वर्षा करेंगे. पहले हेलिकॉप्टर के कप्तान विंग कमांडर बलदेव सिंह बिष्ट होंगे, जबकि दूसरे हेलिकॉप्टर की कमान विंग कमांडर निखिल मेहरोत्रा संभालेंगे.

लाल क़िला पर मल्टीलेयर सिक्योरिटी

आजादी के इस जश्न में दुश्मन किसी तरह से कोई खलल ना डाल पाए, इसको ध्यान में रखते हुए इस साल लाल क़िला पर मल्टीलेयर सिक्योरिटी का इंतजाम किया गया है. लाल क़िला की सुरक्षा की जिम्मेदारी NSG, SPG, पैरामिलिट्री फोर्स के जवानों और दिल्ली पुलिस के हाथों में है. लाल क़िला के आसपास 40 हजार से ज्यादा सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए हैं.


किसी भी तरह के ड्रोन खतरे से निपटने के लिए लाल क़िला के आस-पास 9 एंटी ड्रोन सिस्टम को तैनात किया गया है. NSG कमांडो को लाल क़िला के आस-पास 30 प्वाइंट पर तैनात किया गया है. 15 लोकेशंस पर NSG के स्नाइपर्स भी अत्याधुनिक हथियारों के साथ तैनात हैं. लाल क़िला के पास 5 एयर डिफेंस गन भी तैनात हैं और लाल क़िला के 9 किलोमीटर तक के दायरे में आने वाली हर सड़क पर पैनी नजर होगी

वहीं पिछले 2 साल से कोरोना प्रोटोकॉल का लगातार पालन किया जा रहा है. पिछली बार की तरह आज भी आजादी के कार्यक्रम में शामिल होने वाले मेहमानों की संख्या 1500 ही रखी गई है.

आजादी के इस जश्न को पूरा देश जज्बे के साथ एकजुट होकर मना रहा है और दुनिया को ये संदेश दे रहा है कि भले ही भारत में अलग-अलग संप्रदाय और जाति के लोग रहते हों मगर हमारी एकता ही हमारी सबसे बड़ी ताकत है.

 - रूपसिंह